About Japan in Hindi

about japan in hindi

दोस्तों About Japan in Hindi इस आर्टिकल में हम जानेंगे जपान के बारे में। दोस्तों जपान विश्व के प्रगतशील देशो में गिना जाता है जापान अपने टेक्लॉलजी को लेकर दुर्खियो में छाया हुआ रहता है।

सामान्य ज्ञान

  1. जपान का स्वतंत्रता दिवस 11 फरवरी को मनाया जाता है।
  2. जपान की राजधानी टोक्यो है।
  3. जपान का सबसे बड़ा शहर टोक्यो है।
  4. जपान का क्षेत्रफल 377,973 वर्ग किमी है।
  5. जापान का राष्ट्रगान किमीगायो है।
  6. जपान में कुल 47 राज्य है।
  7. जापान का राष्ट्रीय खेल सूमो कुश्ती है।
  8. जापान के संसद को डायट कहा जाता है।
  9. जापान के निवासियों को जापानीज कहा जाता है।
  10. जापान का मुख्य धर्म बौद्ध धर्म है।
  11. जापान में 1964 में बुलेट ट्रैन की शुरआत हुई थी।
  12. जापान के सविधान का गठन 3 मई 1947 में हुआ था।
  13. जापान में सबसे लम्बी नदी शिनानो है।
  14. जापान देश 47 प्रांतो में बटा हुआ है।

सीमा – Japan Boundaries

जापान ढेर सरे द्वीपों से बना एक दुनिया का प्रगतशील देश है। चारो तरफ से समुद्र से घिरा होने के कारन जापान अपनी भुसीमा किसी भी देश के साथ साझा नहीं करता है। जापान के पडोसी देश साऊथ कोरिआ, चीन और रूस इसके मुख्य पडोसी देश है। जापान क्षेत्रफल के हिसाब से विश्व का 62 वां सबसे बड़ा देश है।

Japan Map

जापान का इतिहास – Japan History

दोस्तों आज हम बात कर रहे है दुनिकी तीसरी पॉवरफुल इकॉनमी वाला देश जापान के बारे में। दो इस तेजी से ग्रोथ कर रहे देश का इतिहास जानते है। दोस्तों 1650 से लेकर 1850 तक यह दोसो साल जापान पूरी तरह आइसोलेटेड था। यहाँ जहागीरदार और जमींदार थे। जापान पूरी तरह अलग अलग हिसो में बाटा हुआ था। तभी जापान में कोई एक क़ानूनी प्रणाली नहीं थी। यहाँ पर नहीं लोक-तंत्र था और नहीं कोई इनका कोई एक राजा था। मगर यहाँ के आपस के जनता ने ही शोगुनेरा को ख़तम किया। तब आया इनका मेजी इरा और इस 40 साल में इन्होने बहुत तरकी कर ली। मेजी इरा आतेही इन्होने सबसे पहले उनके जहागीरदार को ख़तम किया और पुरे जापान को एक दिया। तभी जापान में क़ानूनी प्रणाली बनाई और एक सरकार बनाई जो जनता को सुरक्षा दे सके इस से पहले जहागिरदार थे तो ओ अपने हिसाब से कोई अनाज लेता था तो कोई चावल लेता था मगर अब नहीं इन्होने इनकी सरकार बनाई थी तो अब यह टैक्स था वह अपने सरकार को ही देते थे तो उन्होंने सड़के बनानी शुरू कर दी इनकी खुद की उत्पादन तंत्र शुरू किए, एक शैक्षनिक व्यवस्था सुरु की। और सबसे बड़ी बात इन्होने अपनी खुद की एक फौज तैयार कर ली बाकी सभी देशो की थी। पर इनकी नहीं थी। जपानियोकी एक खास बात है। यह जितना खुद को प्यार करते है उससे ज्यादा अपने देश को प्यार करते है। इनके दिमाग में एक ही चलता है जो कुछ करना है। अपने देश के लिए करना है। इन्होने हर एक बच्चो को सिखा दिया अपने देश के लिए काम करना है। तभी इनकी शैक्षनिक व्यवस्था बहुत अच्छी हो गई, और एक खास बात इन्होने अपनी एक बहुत ही शाक्तिशाली फौज तैयार कर दी।

जापान इतना शक्तिशाली हो गया की 1905 आते-आते इन्होने विश्व का सबसे बड़ा देश रशिया को हरा दिया। मगर इनके पास अभी उनके खुद के प्राकृरतिक संसाधन नहीं थे तो इन्होने दूसरे देशो पर आक्रमण करना शुरू कर दिया जैसे की रशिया, चीन, थाइलैंड, कोरिया और सबको जित ने लगे उसके बाद यह वर्ल्ड-वार एक में लढने लगे इनको काफी तकलीफे आयी मगर इन्होंने हर नहीं मानी और वर्ल्ड-वार दो में इन्होंने अमेरिका का पर हमला कर दिया वह इनके लिए बहोत ही भारी पड़ा। तब अमेरिका को मनो अपनी शक्ती दिखने का एक मोका ही मिल गया अमेरीका उस समय अपना अधिपत्य जमा न चाह ताथा पूरी दुनया पर और अपने आपको दुनिया में सबसे शक्ती शाली है ऐसे दिखाना चाहता था और उसको मौका का ही मिल गया तभी अमेरिकाने सन 1945 में जापान के हिरोसीमा शहर पर अनु बम डाल दिया। तभी अनु बम अकेले अमेरीका के पास ही था। वहा से जापान की बहोत बुरी हालत हो गई। और दूसरा बम अमेरीका ने जापान के नागासाकी शहर पर डाल दिया। तब जापान ने अपने आप को पूरी तरह अमेरिका के सामने निछावर कर दिया। और अमेरिका को बोला जो चाहिए ओ लेलो। क्युकी अमेरीका ने जापान का बहोत बुरा हाल कर दिया था। तो अमेरिका आया इनके पास और एक करार किया की अब से तुम अपनी खुद की आर्मी तैयार नहीं कर सकते आपको अगर सुरक्षा चाहिए तो हम देंगे। तो जापान के पास और कोई रास्ता ही नहीं बचा था तो जापान ने अमेरिका को उस समय हा बोल दिया। पर इनकी फौज बहोत ही शक्ती शैली और बुद्धिमान थी। तो अब इनको किसी के साथ लढना तो नहीं था तो जापानीज सरकार ने इनको बोला तुम अब अपना दिमाग व्यापर में लगाओ।

इनके हिरोसीमा और नागासाकी शहर में अब तक बचे अंधे लंघडे पैदा होते है। तभी भी इन जापानी यो ने हार नहीं मानी और अपने लोगो को बता ने लगे की आप एशिया के सबसे बुद्धिमान और शक्तिशाली हो। आप गोरो को हरा सकते हो उनको जानीं से उखाड़ सकते हो।

Japan: जापान से जुड़े रोचक तथ्य

  1. दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी की जापान के लोग एक ऐसी मछली खाते है। जो काफी जहरीली होती है। फूगू नाम के इस मछली के लिवर में टेट्रा टॉक्सिन नाम का एक बेहद ख़तरनाक जहर पाया जाता है। मगर यह लोग इसे बनाते समय इस के लिवर को निकाल देते है। इसलिए यह पूरी तरह खाने योग्य हो जाती है।
  2. जापान का राष्ट्रगान किंमिगाओ दुनिका सबसे छोटा राष्ट्रगान है। जिसमे केवल 32 ही अक्षर है।
  3. जापानी प्रोडक्ट्स विश्व में सबसे ज्यादा उपयोग होते है। उदहारण के दौर पर अमेरिका और चीन अपने प्रोडक्ट्स तो बनाते है मगर सबसे ज्यादा जापान के प्रोडक्ट्स यूज़ करते है।
  4. यहाँ के 50,000 ऐसे नागरिक है जिनकी उम्र लगभग 100 साल से भी ज्यादा है। इस लिए जापान को बूढ़ो का देश भी कहा ज्याता है।
  5. जापान में हर साल 1500 भूकंप आते है मतलब हर दिन चार।
  6. जापान में काली बिल्ली को भाग्यशाली माना जाता है।
  7. जापान में 70 तरह की फंटा (Fanta) मिलती है।
  8. विश्व में सबसे ज्यादा आत्महत्या जापान में ही होती है और यहाँ एक जंगल भी है जहाँ जाकर लोग आत्महत्या करते है।
  9. दोस्तों अमेरिका और चीन के बाद जापान की तीसरी सबसे तेजी से बढाती हुई इकोनॉमी मानी जाती है।
  10. जापान की राजधानी टोकियो शहर जापान के साथ साथ विश्व का सबसे बड़ा शहर है। जनसंख्या के हिसाब से यह शहर विश्व का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। और दुनिया का दूसरा सबसे महंगा शहर भी माना जाता है।
  11. मुसलमानों को नागरिकता न देने वाला जापान अकेला राष्ट्र है। यहाँ तक कि मुसलमानों को जापान में किराए पर मकान भी नहीं मिलता।
  12. जापान में समय पूरी तरह प्रबंधित होता है। यहाँ की ट्रेन का औसतन लेट टाइम छह पल का ही होता है। यहाँ अगर कोई ट्रेन 10 या 15 मिनट लेट हो गई तो यह बात इन लोगो को इतनी अजीब होती है की वहां की न्यूज़ की हैडलाइन बन जाती है।
  13. दुनिया की सबसे अधिक कार्टून और एनीमेशन व्हिडीओ जापान में ही बनाते है।
  14. जापान में 3000 से भी अधिक मेक्डोनल्स उपलब्ध है। जो अमेरिका के बाद अन्य देशों से सबसे अधिक है।
  15. जापान एग्रीकल्चर प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट करने वाला दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। दुनिया में सबसे ज्यादा एग्रीकल्चर प्रोडक्ट्स चीन एक्सपोर्ट करता है।

16. जापान में पालतू पशु को पालना बहुत पसंद करते है। यहाँ बच्चो से ज्यादा मात्रा में पालतू पशुओ की संख्या है।

17. दुनिया में सबसे मेहनती लोग जापान के ही माने जाते है इसी लिए जापान आज इतनी तरकी कर रहा है।

Related posts

Leave a Comment